manjurajpatrika

एक्सपोर्ट तो दूर, अगर कोई गाय के साथ बेरहमी से भी पेश आया तो वह जेल जायेगा: योगी

लखनऊ- रविवार राजधानी लखनऊ में विश्व हिंदू परिषद् के गौरक्षा से संबंधित आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाग लिया। क...

लखनऊ- रविवार राजधानी लखनऊ में विश्व हिंदू परिषद् के गौरक्षा से संबंधित आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भाग लिया। कार्यक्रम में उन्होंने गायों को लेकर एक और कड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि राज्य में गाय के गोश्त के एक्सपोर्ट की बातें झूठी है। उनहोंने यह भी कहा कि बीफ की एक्सपोर्ट तो दूर, जो व्यक्ति गाय से बेरहमी से भी पेश आया तो वह जेल में होगा।

बता दें कि सीएम योगी ने कहा कि यूपी से एक तिनका भी गौ मांस का निर्यात नहीं होता है। उन्होंने कहा कि लोग गाय का दूध पीकर सड़कों पर छोड़ देते हैं। गाय सड़कों पर पॉलीथीन और कचरा खाती है। गौवंश का नस्ल सुधार कैसे हो, ये देखना होगा। उन्होंने कहा कि प्रचार प्रसार के अभाव में सुधार दबा हुआ है। पहले गौ माता हमारी समस्या को हरती थी। आज हम ही गौ माता को समस्या मानने लगे हैं। आगे उन्होंने कहा कि गौ-संरक्षण और गौ-संवर्धन दोनों का काम हमें करना है। गौ नस्ल सुधार पर हमें शोध करना चाहिए था। भारतीय गौ की नस्ल धीरे-धीरे विलुप्त होती जा रही है। गौचर भूमि पर अनेक प्रकार से कब्जे हैं, उन्हे हटाना चाहिए।

सीएम ने गाय के बारे में बताते हैं कि “गाय को घर में बांधेंगे तो हमें और भी लाभ मिलेंगे। गाय माता दूध दे या न दे, पर गोबर और गौ-मूत्र तो देती है। हर चीज को हम सरकार के भरोसे छोड़ देते हैं।” उन्होंने ने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि भारत की आबादी 125 करोड़ है, वहीं गौ माता सिर्फ 3 से 4 करोड़ हैं। हम सभी संकल्प ले तो 30 से 40 करोड़ गौ का संवर्धन हो सकता है।
Reactions: 

Related

Uttar Pradesh 7189025619265623833

Post a Comment

emo-but-icon

Popular

item